Rajasthan Current Affairs /09 July 2021/RAS 2021/SI 2021/IAS/College Lecturer| Ghanshyam Sharma - RAS Junction <meta content='ilazzfxt8goq8uc02gir0if1mr6nv6' name='facebook-domain-verification'/>

RAS Junction

We Believe in Excellence

Friday, July 9, 2021

Rajasthan Current Affairs /09 July 2021/RAS 2021/SI 2021/IAS/College Lecturer| Ghanshyam Sharma


48- राजस्थान में पीसीपीएनडीटी अधिनियम के तहत मुखबिर योजना प्रोत्साहन राशि को बढ़कर कितना कर दिया गया है -

A- 2 लाख रुपए
B- 3 लाख रुपए
C- 4 लाख रुपए
D- 5 लाख रुपए

प्रदेश में पीसीपीएनडीटी अधिनियम के तहत मुखबिर योजना को अधिक प्रभावी बनाते हुए प्रोत्साहन राशि को ढाई लाख से बढ़ाकर अब तीन लाख रुपये कर दिया गया है।
योजना में निर्धारित ढाई लाख की राशि की पहली किश्त सफल डिकाय होने पर, दूसरी न्यायालय में परिवाद दर्ज होने एवं तीसरी किश्त फैसला आने पर दी जाती थी। अब मुखबिर, डिकाय गर्भवती महिला एवं सहयोगी को पहली किस्त सफल डिकाय होने एवं दूसरी किश्त न्यायालय में अभियोजन पक्ष के समर्थन में बयान के बाद दी जायेगी।
पहले गर्भवती महिला को तीन किश्तों में कुल एक लाख रुपये की राशि दी जाती थी। अब उसे दो किश्तों में कुल डेढ़ लाख रुपये की राशि प्रोत्साहन स्वरूप दी जाएगी। साथ ही पूर्व में मुखबिर को तीन किश्तों में 33 हजार 250 प्रति किश्त, सहयोगी को 16 हजार 625 रुपये प्रति किश्त मिलते थे। लेकिन अब मुखबिर को दो किश्तों में 50-50 हजार रुपये एवं सहयोगी को 25-25 हजार रुपये प्रोत्साहन राशि का भुगतान किया जाएगा।




49- स्टार्टअप ब्लैकफ्रॉग प्रौद्योगिकी (टेक्नोलॉजीज) द्वारा विकसित इम्वोलियो निमनलिखित में से किस प्रकार का चिकित्सकीय उपकरण है -

A- चिकित्सा स्तरीय प्रशीतक
B- इमरजेंसी सहायता वाहन
C- आक्सीजन कंसंट्रेटर
D- केंसर डाईगनोस्टिक उपकरण


जैव प्रौद्योगिकी विभाग (डीबीटी)-बीआईआरएसी(Biotechnology Industry. Research Assistance Council ) से सहायता प्राप्त (समर्थित) स्टार्टअप ब्लैकफ्रॉग प्रौद्योगिकी (टेक्नोलॉजीज) ने इम्वोलियो नाम से एक ऐसे उपकरण को विकसित किया है जो बैटरी से चलने वाला और कहीं भी ले जाए जा सकने वाला चिकित्सा स्तरीय प्रशीतक (मेडिकल-ग्रेड रेफ्रिजरेशन डिवाइस) है।
यह उपकरण 12 घंटे तक पूर्व निर्धारित (प्रीसेट) तापमान को हर स्थिति में बनाए रखते हुए टीकाकरण की दक्षता में सुधार करता है। इस प्रकार यह उपकरण अंतिम लक्ष्य तक टीकों के सुरक्षित और कुशल परिवहन को सम्भव बनाता है।
इम्वोलियो की क्षमता 2-लीटर है जिससे इसमें एक दिन के टीकाकरण अभियान के लिए निर्धारित मानकों के अनुरूप 30-50 तक टीके की शीशियों रख कर ले जाया जा सकता है।
ब्लैकफ्रॉग की उत्पादन क्षमता 1500 उप(करण यूनिट)/माह की है, और एम्वोलियो को अब राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन से आवश्यक मंजूरी के साथ पूर्वोत्तर भारत में तैनात किया जा रहा है।

50- निमनलिखित मे किस महिला द्वारा 18 अत्यंत कठिन पर्वतीय मार्गों को कवर करते हुए दुनिया के पहले एकल मोटरसाइकिल अभियान को पूरा किया गया है -

A- ज्योति सिंह
B- कंचन उगुसंडी
C- विदिशा गर्ग
D- प्रेरणा बजाज

सुश्री कंचन उगुसंडी द्वारा उत्तरी हिमालय पर्वतमाला में 18 अत्यंत कठिन पर्वतीय मार्गों को कवर करते हुए दुनिया के पहले एकल मोटरसाइकिल अभियान को अंजाम दिया गया।
मिस उगुसंडी उमलिंगला दर्रे को फतह करने, 18 पास को कवर करने और एक ही बार में नई दिल्ली-मनाली-लेह-उमलिंगला-दिल्ली से 3,187 किलोमीटर की दूरी तय करने वाली पहली अकेली महिला बाइकर बन गई हैं।

51- नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ बायोमेडिकल जीनोमिक्स (एनआईबीएमजी), कल्याणी ने निम्नलिखित में से किस केंसर के जीनोमिक बदलाव का दुनिया का पहला डेटाबेस तैयार किया है-

A- स्तन केंसर
B- मुँह का केंसर
C- प्रोस्टेट केंसर
D- अग्नाशय केंसर

डीबीटी- नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ बायोमेडिकल जीनोमिक्स (एनआईबीएमजी), कल्याणी ने मुंह के कैंसर में जीनोमिक बदलाव का एक डेटाबेस तैयार किया है जो दुनिया में अपने प्रकार का पहला डेटाबेस है। एनआईबीएमजी ने इस डेटाबेस को सार्वजनिक तौर पर उपलब्ध कराया है।
इस रिपोजिटरी को भारत और दक्षिण पूर्व एशिया के विभिन्न क्षेत्रों के नए ओरल कैंसर रोगियों के विभिन्न डेटा के साथ सालाना अपडेट किया जाएगा। इसमें ओरल कैंसर अनुसंधान में प्रगति के लिए मदद करने की क्षमता है और यह वेरिएंट्स का महज कैटलॉग तैयार करने के बजाय उनके महत्व को समझने की दिशा में उठाया गया एक बड़ा कदम होगा।
ओरल कैंसर भारत में पुरुषों में पाया जाने वाला कैंसर का सबसे प्रचलित रूप है जो मुख्य रूप से तंबाकू चबाने के कारण होता है। तंबाकू चबाने से ओरल कैविटी में कोशिकाओं की आनुवंशिक सामग्री में परिवर्तन होता है। ये परिवर्तन (म्यूटेशन) ओरल कैंसर का कारण बनते हैं।


52- जीआई (भौगोलिक संकेतक) प्रमाणित भालिया किस्म के गेहूं का उत्पादन मुख्य रूप से देश के किस राज्य में किया जाता है -

A- केरल
B- तमिलनाडु
C- महाराष्ट्र
D- गुजरात

देश में रिकॉर्ड पैदावार के बाद अब गेहूं का निर्यात भी शुरू हो गया है। इसी क्रम में जीआई (भौगोलिक संकेतक) प्रमाणित भालिया किस्म के गेहूं की पहली खेप गुजरात से केन्या और श्रीलंका को निर्यात की गई। भालिया किस्म के गेहूं जीआई प्रमाणित के साथ ही प्रोटीन की मात्रा से भरपूर होते हैं और यह स्वाद में मीठा होता है। भालिया फसल प्रमुख रूप से गुजरात के भाल क्षेत्र में पैदा की जाती है। भाल क्षेत्र में अहमदाबाद, आनंद, खेड़ा, भावनगर, सुरेंद्रनगर, भरूच जिले शामिल हैं।
यह बारिश के मौसम में बिना सिंचाई के उगाया जाता है व गेहूं को सिंचाई या बारिश की आवश्यकता नहीं है क्योंकि वे संरक्षित मिट्टी की नमी पर खेती की जाती है।इस किस्म का उपयोग सूजी तैयार करने के लिए किया जाता है।
गेहूं की भालिया किस्म को जुलाई, 2011 में जीआई प्रमाणन प्राप्त हुआ था।

53- पीएम वाणी स्कीम का सम्बंध निम्नलिखित में से किस क्षेत्र से है -

A- इंटरनेट कनेक्टिविटी
B- स्वास्थ्य सेवा
C- उच्च शिक्षा
D- दिव्यांग सहायता

भारत सरकार ने पीएम वाणी स्कीम (वाई फाई एक्सेस नेटवर्क इंटरफेस) शुरू करने की घोषणा की है, जिसका उद्देश्य सभी को मुफ्त और आसान इंटरनेट कनेक्टिविटी प्रदान करना है।
इस योजना को एक ऐसी सेवा के रूप में स्थापित किया जाएगा, जो पूरे भारत को इंटरनेट सेवाओं से जोड़ेगी। इस वाई फाई एक्सेस नेटवर्क इंटरफेस के सफल कार्यान्वयन के लिए, पूरे देश में सार्वजनिक डेटा केंद्र खोले जाएंगे।
इन सार्वजनिक डेटा केंद्रों को खोलने के लिए आवेदक को कोई लाइसेंस शुल्क या पंजीकरण शुल्क नहीं देना होगा। केंद्रीय मंत्रिमंडल ने 9 दिसंबर 2020 को इस योजना को मंजूरी दी थी। पीएम वाणी को पहली बार भारतीय दूरसंचार नियामक प्राधिकरण (TRAI) द्वारा वर्ष 2017 में अनुशंसित किया गया था।
वर्ष 2015 से जून 2020 के बीच भारत में इंटरनेट ग्राहकों की संख्या 30 करोड़ से बढ़कर 70 करोड़ हो गई। यह 20% चक्रवृद्धि वार्षिक वृद्धि दर (CAGR) ही भारत को विश्व के सबसे तेजी से बढ़ते इंटरनेट बाजारों में से एक बनाती है।
डिजिटल क्वालिटी ऑफ लाइफ इंडेक्स 2020 में भारत को इंटरनेट वहनीयता (Internet Affordability) के मामले में 9वें स्थान पर रखा गया, इस श्रेणी में भारत ने यूके, संयुक्त राज्य अमेरिका और चीन जैसे देशों से भी बेहतर प्रदर्शन किया।
नेट लोगों की बुनियादी जरूरत बन गया है और महामारी ने इस जरूरत को और बढ़ा दिया है। आज एक औसत भारतीय परिवार को एक दिन में 20 जीबी इंटरनेट की आवश्यकता होती है।

No comments:

Post a Comment

RAS Mains Paper 1

Pages