Rajasthan Current Affairs /18 June 2021/RAS/SI 2021/IAS/College Lecturer| Ghanshyam Sharma - RAS Junction <meta content='ilazzfxt8goq8uc02gir0if1mr6nv6' name='facebook-domain-verification'/>

RAS Junction

We Believe in Excellence

Friday, June 18, 2021

Rajasthan Current Affairs /18 June 2021/RAS/SI 2021/IAS/College Lecturer| Ghanshyam Sharma

Rajasthan Current Affairs /18 June 2021/RAS/SI 2021/IAS/College Lecturer| Ghanshyam Sharma

 66- सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार विभाग, राजस्थान के किस प्रोजेक्ट को आईएमसी डिजिटल टेक्नोलॉजी आइटी अवॉर्ड्स 2020 में सम्मानित किया गया है -


A- राजमास्टर्स प्रोजेक्ट
B- दस्तावेज सत्यापन और प्रमाणीकरण इंजन प्रोजेक्ट
C- उपरोक्त दोनो
D- इनमे से कोई नहीं

सूचना प्रौद्योगिकी एवं संचार विभाग, राजस्थान के राजमास्टर्स प्रोजेक्ट तथा दस्तावेज सत्यापन और प्रमाणीकरण इंजन प्रोजेक्ट को आईएमसी डिजिटल टेक्नोलॉजी आइटी अवॉर्ड्स 2020 में दो पुरस्कार मिले हैं। राजमास्टर्स् प्रोजेक्ट को ‘बेस्ट प्रोजेक्ट इन द कंट्री विदिन द एंड यूजर आर्गेनाइजेशन-गवर्नमेंट‘ के पुरस्कार से नवाजा गया है, जबकि दस्तावेज सत्यापन और प्रमाणीकरण इंजन प्रोजेक्ट को ‘एंड यूजर कैटेगरी - गवर्नमेंट‘ के पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

राजमास्टर्स प्रोजेक्ट
राजमास्टर्स सभी मास्टर्स डेटा के प्रबंधन, वितरण और निगरानी के लिए एक केंद्रीकृत रिपोजिटरी डेटा हब है, इसका उपयोग विभिन्न विभागों व परियोजनाओं की एप्लिकेशन में किया जाता है। यह पोर्टल एक ही स्थान पर संबंधित विभागों के मास्टर डेटा को जोड़ने, अद्यतन करने और हटाने के लिए एक एकीकृत वातावरण प्रदान करता है।
मास्टर्स को एक ही स्थान पर प्रबंधित किया जाता है और वेब सेवाओं के माध्यम से विभिन्न आईटी ऎप्लीकेशंस में वितरित किया जाता है, जिसके परिणामस्वरूप सॉफ्टवेयर अनुप्रयोगों को विकसित करने में बहुत प्रयास, लागत और समय की बचत होती है। राजमास्टर्स सिस्टम राज्य के 150 से अधिक मास्टर्स का प्रबंधन करता है जिसमें पंचायतीराज, राजस्व और स्थानीय स्वायत शासन विभाग आदि शामिल हैं।

दस्तावेज सत्यापन और प्रमाणीकरण इंजन प्रोजेक्ट
दस्तावेज सत्यापन सिस्टम एक G2G (सरकार से सरकार) श्रेणी का पोर्टल है, जहां विभागीय नोडल अधिकारी विभिन्न योजनाओं में आवेदकों द्वारा प्रस्तुत दस्तावेजों की प्रमाणिकता को सत्यापित कर सकते हैं। सिस्टम विभागीय डेटाबेस पर निर्मित वेब सेवाओं के माध्यम से डेटा के स्रोत के विरुद्ध दस्तावेजों का सत्यापन करता है। इस प्रणाली ने 20 प्रकार के दस्तावेजों को एकीकृत किया है, इनमें से कुछ बोनाफाइड, जाति, जन्म, विवाह, मृत्यु, आधार, जन-आधार, पैन, डीएल, आरसी, मतदाता पहचान पत्र, राज बोर्ड 10वीं, 12वीं मार्कशीट हैं।




67- यूनेस्को विज्ञान रिपोर्ट 2021 के संबंध में ग़लत कथन चुनिए -

A- 2018 में शोधकर्ताओं में 33 % महिलायें थी
B- 80% देश अभी भी शोध पर सकल घरेलू उत्पाद का 1% से भी कम खर्च करते हैं
C- रिपोर्ट का उपशीर्षक, 'द रेस अगेंस्ट टाइम फॉर स्मार्टर डेवलपमेंट' है।
D- इनमे से कोई नहीं

11 जून 2021 को यूनेस्को द्वारा यूनेस्को विज्ञान रिपोर्ट के सातवें संस्करण को जारी किया गया है। यूनेस्को की विज्ञान रिपोर्ट 1993 में विश्व विज्ञान रिपोर्ट के नाम से शुरू की गई थी।
श्रृंखला का सातवां संस्करण इस बात की पड़ताल करता है कि कैसे देश डिजिटल और पारिस्थितिक रूप से स्मार्ट भविष्य का एहसास करने के लिए विज्ञान का उपयोग कर रहे हैं।
यूनेस्को की विज्ञान रिपोर्ट का उपशीर्षक, 'द रेस अगेंस्ट टाइम फॉर स्मार्टर डेवलपमेंट', इन दोहरी विकास प्राथमिकताओं का एक संकेत है।
सभी आय स्तरों के देश डिजिटल और हरित अर्थव्यवस्थाओं में अपने परिवर्तन को प्राथमिकता दे रहे हैं। एक ओर, देशों ने 2030 की समय सीमा तक अपने महत्वाकांक्षी सतत विकास लक्ष्यों को प्राप्त करने के लिए प्रतिबद्ध किया है।
विज्ञान के क्षेत्र में वैश्विक शोध खर्चों में 2014-2018 के बीच 19.2% की वृद्धि हुई है।
2014 और 2018 के बीच 30 से अधिक देशों ने अपना शोध खर्च बढ़ाया। इसके बावजूद, कई देश विदेशी प्रौद्योगिकियों और विशेषज्ञता पर निर्भर हैं।
80% देश अभी भी शोध पर सकल घरेलू उत्पाद का 1% से भी कम खर्च करते हैं।
93% वैश्विक अनुसंधान व्यय  G20 देशों द्वारा किया जाता है।
2014 और 2018 के बीच वैश्विक अनुसंधान खर्च में वृद्धि का 44% अकेले चीन द्वारा किया गया है।
2018 में शोधकर्ताओं में 33 % महिलायें थी।

68- विश्व दाता सूचकांक 2021 की रिपोर्ट में भारत का कौनसा स्थान है -
A- 2nd
B -8th
C- 12th
D- 14th

विश्व दाता सूचकांक 2021 की रिपोर्ट में बताया गया है कि भारत दुनिया का 14वां सर्वाधिक परोपकारी देश है। कोविड-19 महामारी ने दुनियाभर में दान कार्यों के रुझानों का संकेत दिया है।
चैरिटीज एड फाउंडेशन- सीएएफ के इस वर्ष के सर्वेक्षण में दान और परोपकारी गतिविधियों पर लॉकडाउन के प्रभावों का उल्लेख किया गया है।
भारत अब विश्व के शीर्ष 20 उदार देशों में शामिल हैं, जबकि पिछले दस वर्षों तक भारत 82वें स्थान पर था।
आस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड दुनिया के शीर्ष दस दान-दाता देशों में बने हुए हैं।
दुनिया के लगभग तीन अरब व्यस्क लोगों ने 2020 में किसी न किसी ऐसे व्यक्ति की सहाय़ता की जिसे वह जानते भी नहीं थे। सीएएफ की रिपोर्ट में बताया गया है कि भारत में 2017-2019 के बीच दान और परोपकारी गतिविधियों में उल्लेखनीय वृद्धि हुई और यह रूझान 2020 में भी जारी रहा।

69- हाल ही में जनजातीय मामलों मंत्रालय  ने कौनसा एक पोर्टल लांच किया है-

A- वन प्रशिक्षण पोर्टल
B- आदिवासी प्रशिक्षण पोर्टल
C- आदि प्रशिक्षण पोर्टल
D- आदिजन प्रशिक्षण पोर्टल

हाल ही में जनजातीय मामलों मंत्रालय  ने ‘आदि प्रशिक्षण’ पोर्टल लांच किया है।
मंत्रालय ने संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (United Nations Development Programme) के सहयोग से यह पोर्टल विकसित किया है।
इस पोर्टल का उद्देश्य देश भर में आयोजित होने वाले प्रशिक्षण कार्यक्रमों की व्यापक जानकारी प्रदान करना है। आदि प्रशिक्षण पोर्टल सूचना प्रौद्योगिकी का उपयोग करके दूरस्थ क्षेत्र तक पहुंचने की एक पहल है ताकि आदिवासी समुदायों को उनके अधिकारों और लाभों तक पहुंच प्राप्त हो सके।

70- निम्नलिखित में से किस एक राज्य में 'ब्लड दो और और वैक्सीनेशन स्लॉट पाओ' अभियान शुरू किया गया है -

A- राजस्थान
B- गुजरात
C- पश्चिम बंगाल
D- कर्नाटक

पश्चिम बंगाल में के ब्लड बैंकों में खून की भारी किल्लत हो गई है। ऐसे में राज्य के अस्पतालों और ब्लड डोनेशन ऑर्गेनाइजेशन की ओर से एक अभियान चलाया जा रहा है। इसके तहत बल्ड डोनेट करने के बदले में कोविड-19 टीकाकरण स्लॉट की गारंटी देने की पहल शुरू की गई है।
अभियान के तहत 'ब्लड दो और और वैक्सीनेशन स्लॉट पाओ' की बात कही जा रही है।
‘खून दो और वैक्सीनेशन स्लॉट पाओ’ की पहल को जमीन पर उतारने के लिए टेक्नो इंडिया दामा अस्पताल ने एक गैर लाभकारी संस्था के साथ करार किया है। यह संस्था लोगों को कैंसर रोगियों के लिए टाटा मेडिकल सेंटर में रक्तदान करने के लिए प्रोत्साहित करती है। इसके बदले में ब्लड डोनर्स को वैक्सीन स्लॉट का आश्वासन दिया जाता है।

71- निम्नलिखित में से किसकी स्मृति में भारतीय जन संचार संस्थान दिल्ली में पुस्तकालय की स्थापना की गई है -

A- हज़ारी प्रसाद द्विवेदी
B- रामधारी सिंह दिनकर
C- महादेवी वर्मा
D- पं. युगल किशोर शुक्ल

भारतीय जन संचार संस्थान दिल्ली में पं. युगल किशोर शुक्ल की स्मृति में एक पुस्कालय की स्थापना की गई है। पं. शुक्ल ने आज से 195 साल पहले  सन 1826 में  'उदन्त मार्तंड' नाम से देश का पहला हिंदी अखबार शुरू किया था।
भारत में हिंदी पत्रकारिता की शुरुआत पं. युगल किशोर शुक्ल द्वारा 30 मई, 1826 को कोलकाता से प्रकाशित समाचार पत्र 'उदन्त मार्तण्ड' से हुई थी। इसलिए 30 मई को पूरे देश में हिंदी पत्रकारिता दिवस मनाया जाता है।
'उदन्त मार्तण्ड' का ध्येय वाक्य था, ‘हिंदुस्तानियों के हित के हेतु’ और इस एक वाक्य में भारत की पत्रकारिता का मूल्यबोध स्पष्ट रूप में दिखाई देता है।

Tags#
rajasthan current June 2021,ras junction current affairs,daily curent 18 June rajasthan,ras junction,best curent for ras,current ras exam,RPSC SI current,current affairs 2021,ras exam current,ras current June 2021,June 21 Rajasthan current,18 June rajasthan current,best institute for ras,rajasthan current 18 June,ras current,rajasthan english current affairs,rajasthan current 18 June 2021,ras 2021,rpsc,current affairs ras,current affairs rajasthan 2021

No comments:

Post a Comment

RAS Mains Paper 1

Pages