Rajasthan Current Affairs /03 June 2021/RAS/SI 2021/IAS/College Lecturer| Ghanshyam Sharma - RAS Junction <meta content='ilazzfxt8goq8uc02gir0if1mr6nv6' name='facebook-domain-verification'/>

RAS Junction

We Believe in Excellence

Thursday, June 3, 2021

Rajasthan Current Affairs /03 June 2021/RAS/SI 2021/IAS/College Lecturer| Ghanshyam Sharma

 Rajasthan Current Affairs /03 June 2021/RAS/SI 2021/IAS/College Lecturer| Ghanshyam Sharma

राजस्थान करेंट अफेयर्स / 03 जून 2021/आरएएस/एसआई 2021/आईएएस/कॉलेज लेक्चरर| घनश्याम शर्मा




12- जल जीवन मिशन’ के कार्यान्वयन के लिए केंद्र सरकार ने राजस्थान को 2021-22 के लिए कितने करोड़ रुपये आबंटित किए हैं-


A- 5786 करोड
B- 8963 करोड
C- 9785 करोड
D- 10181 करोड

जल जीवन मिशन’ के कार्यान्वयन के लिए केंद्र सरकार ने राजस्थान को 2021-22 के लिए 10,181 करोड़ रुपये आबंटित किए हैं।
15 अगस्‍त 2019 को प्रधानमंत्री, श्री नरेंद्र मोदी द्वारा वर्ष 2024 तक सभी ग्रामीण घरों में नल से पीने का साफ पानी पहुंचाने के उद्देश्य से ‘जल जीवन मिशन’ की घोषणा की गई थी ताकि देश के लोगों, खासकर महिलाओं और बालिकाओं के जीवन-स्तर में सुधार आए। उद्देश्य यह है कि किसी भी गाँव में कोई भी घर पीने के पानी के नल कनैक्शन से वंचित न रहे। उस समय देश के गांवों में स्थित कुल 19.20 करोड़ घरों में से केवल 3.23 करोड़ (यानी मात्र 17%) घरों में ही नल से पीने के पानी की सुविधा उपलब्ध थी ।
मई 2021 तक यह संख्‍या बढ कर 7.50 करोड़ (यानी कुल ग्रामीण घरों का 39%) हो गई है।
जल जीवन मिशन के अंतर्गत अब तक गोवा, तेलंगाना, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह तथा पुद्दूचेरी ‘हर घर जल’ अर्थात ऐसे राज्य अथवा संघशासित क्षेत्र बन गए हैं, जहां हर ग्रामीण घर में नल से पीने के पानी  की सुविधा उपलब्ध है।
वर्ष 2020-21 में राज्य में 20.70 लाख के लक्ष्य के मुक़ाबले 6.81 लाख घरों में ही नल के पानी के कनैक्शन दिये जा सके। अतः राजस्थान में जल जीवन मिशन के कार्यान्वयन में तेजी लाने के लिए वर्ष 2021-22 के लिए राज्य ने 30 लाख घरों, तथा वर्ष 2022-23 और वर्ष 2023-24 के लिए क्रमशः 35 लाख और 16.75 लाख घरों तक नल से पीने का पानी उपलब्ध करने की योजना बनाई है। जिससे वर्ष 2024 तक राजस्थान ‘हर घर जल’ राज्य बन सकेगा। आर्सेनिक, फ्लुओराइड, नाइट्रेट तथा लवणीकरण से प्रभावित लगभग 1,950 गांव भी 2021-22 की योजना में शामिल हैं।

13- पुणे के सीएसआईआर-एनसीएल में जल को जीवाणु रहित बनाने के लिए विकसित नई हाइब्रिड कैविटेशन टेक्नोलॉजी का नाम क्या है-

A- स्वच्छ
B- उत्तम
C- स्वास्तिक
D- निर्मल

पुणे के सीएसआईआर-एनसीएल में वैज्ञानिक डॉ. वी एम भंडारी एवं उनके ग्रुप ने भारत सरकार के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग (डीएसटी) की जल प्रौद्योगिकी पहल से सहायता के साथ ‘स्वास्तिक’नामक एक नवीन हाईब्रिड टेक्नोलॉजी विकसित की है जिसमें प्रेशर रिडक्शन (कैविटेशन) के परिणामस्वरूप तरल का उबालना शामिल है तथा यह रोगाणुरोधी गुणों वाले प्राकृतिक तेलों का भी उपयोग करता है।
यह प्रौद्योगिकी किफायती रूप से रोगाणुरोधी-सहिष्णु जीवाणु सहित नुकसानदायक जीवाणु को खत्म कर सकती है।
यह न केवल पानी को पूरी तरह विसंक्रमित करने के लिए आयुर्वेद के भारतीय पारंपरिक ज्ञान को समेकित करती है बल्कि प्राकृतिक तेलों के संभावित स्वास्थ्य लाभों को भी प्रस्तुत कर सकती है।
इसमें हाइड्रोनैमिक कैविटेशन तकनीक का उपयोग किया जाता है और यह प्राकृतिक तेलों तथा पादप रस के रूप में प्राकृतिक संसाधनों के साथ कैमिस्ट्री, बायोलॉजी तथा कैमिकल इंजीनियरिंग को संयोजित करती है।
स्वास्तिक(Safe Water and Sustainable Technology Initiative from Indian Knowledgebase) की नवीन कार्यनीति का सुरक्षित जल उपलब्ध कराने के लिहाज से उल्लेखनीय लाभ हो सकता हैं और इसके रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने से संबंधित संभावित स्वास्थ्य लाभ भी हो सकते हैं।

14- निम्नलिखित में से किस संस्थान द्वारा एशिया प्रशांत सार्वजनिक क्षेत्र साइबर सुरक्षा कार्यकारी परिषद लॉन्च की गई है-

A- अल्फाबेट
B- गूगल
C- फेसबुक
D- माइक्रोसॉफ्ट

माइक्रोसॉफ्ट ने “एशिया प्रशांत सार्वजनिक क्षेत्र साइबर सुरक्षा कार्यकारी परिषद” (Asia Pacific Public Sector Cyber Security Executive Council) लॉन्च की है। इसे साइबर खतरों से निपटने और भाग लेने वाले देशों के बीच सर्वोत्तम प्रथाओं को साझा करने के लिए मजबूत संचार चैनल बनाने के उद्देश्य से लॉन्च किया गया है।
इस साइबर सुरक्षा परिषद में इंडोनेशिया, कोरिया, ब्रुनेई, मलेशिया, सिंगापुर, फिलीपींस और थाईलैंड जैसे देशों के नीति निर्माता शामिल हैं।
साइबर सुरक्षा में सार्वजनिक-निजी भागीदारी में तेजी लाने और खतरे की खुफिया जानकारी साझा करने के उद्देश्य से इस परिषद की स्थापना की गई है।
इस परिषद की तिमाही आधार पर वर्चुअल बैठक होगी ताकि साइबर खतरों और संबंधित साइबर सुरक्षा समाधानों पर सूचनाओं का लगातार आदान-प्रदान किया जा सके।

15- आईआईटी रोपड़ द्वारा विकसित इंटरनेट ऑफ थिंग्स आधारित उपकरण एम्बिटैग का कार्य है-

A- रियल टाइम तापमान मॉनिटरिंग
B- लोकेशन आधारित सेवा
C- नैनो ड्रग डिलीवरी
D- एनर्जी स्टोरेज डिवाइस

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (IIT) रोपड़, पंजाब ने अपनी तरह का पहला इंटरनेट ऑफ थिंग्स (Internet of Thing) उपकरण ऐम्बिटैग (AmbiTag) विकसित किया है, जो खराब होने वाले उत्पादों, टीकों और यहाँ तक कि शरीर के अंगों व रक्त के संचार के दौरान उनके आसपास का रियल टाइम तापमान दर्ज करता है।
यह यूनिवर्सल सीरियल बस (Universal Serial Bus- USB) डिवाइस के आकार का है।
यह कोल्ड चेन प्रबंधन के लिये भारत का पहला स्वदेशी तापमान डेटा लॉगर है।
यह एक बार चार्ज होकर पूरे 90 दिनों तक किसी भी टाइम ज़ोन में और -40 से +80 डिग्री सेंटीग्रेट तक के वातावरण में निरंतर तापमान दर्ज करता रहता है।
जब तापमान पूर्व निर्धारित सीमा से ऊपर जाता है तो यह एक अलर्ट जारी करता है।
दर्ज किये गए डेटा को किसी कंप्यूटर को यूएसबी से जोड़कर हासिल किया जा सकता है।

16- निम्नलिखित में से किस राज्य ने हाल ही में नीति आयोग की तर्ज पर राज्य स्तरीय इंस्टिट्यट का गठन किया है-
A- हिमाचल प्रदेश
B- गोवा
C- गुजरात
D- राजस्थान

गोवा सरकार ने हाल ही में ‘नीति आयोग’ की तर्ज पर ‘गोवा इंस्टीट्यूशन फॉर फ्यूचर ट्रांसफॉर्मेशन’ (GIFT) का गठन किया है।
नीति आयोग की तरह ही ‘गोवा इंस्टीट्यूशन फॉर फ्यूचर ट्रांसफॉर्मेशन’ नीति निर्णयन और निर्माण में सरकार की सहायता, सलाह और मार्गदर्शन का कार्य करेगा।
राज्य का मुख्यमंत्री इस नए निकाय के अध्यक्ष के रूप में कार्य करेगा।
स्वायत्तता प्रदान करने के लिये ‘गोवा इंस्टीट्यूशन फॉर फ्यूचर ट्रांसफॉर्मेशन’ को भारतीय संविधान के अनुच्छेद 309 द्वारा समर्थन प्राप्त होगा।
संस्थान अपने सतत विकास लक्ष्यों और विज़न 2030 को प्राप्त करने की दिशा में सरकार की निगरानी और मार्गदर्शन करेगा। यह 2025 तक प्रति व्यक्ति आय को दोगुना करने पर भी काम करेगा।
गोवा के राज्य योजना बोर्ड को 1 अप्रैल, 2017 से भंग कर दिया गया था।

Tags#
#rajasthan current June 2021,#ras junction current affairs,#daily curent 03 June rajasthan, #ras junction, #best curent for ras, #current ras exam, #RPSC SI current, #current affairs 2021, #ras exam current,ras current June 2021,June 2021 Rajasthan current,03 June rajasthan current,best institut ras,राजस्थान करंट अफेयर्स जून 2021,rajasthan current 03 June,ras current,rajasthan english current affairs,rajasthan current affairs monthly,rajasthan current 03 June 2021,rpsc

No comments:

Post a Comment

RAS Mains Paper 1

Pages