Rajasthan Current Affairs /28 May 2021/RAS/Patwari/SI 2021/College Lecturer| Ghanshyam Sharma - RAS Junction <meta content='ilazzfxt8goq8uc02gir0if1mr6nv6' name='facebook-domain-verification'/>

RAS Junction

We Believe in Excellence

Friday, May 28, 2021

Rajasthan Current Affairs /28 May 2021/RAS/Patwari/SI 2021/College Lecturer| Ghanshyam Sharma


Rajasthan Current Affairs /28 May 2021/RAS/Patwari/SI 2021/College Lecturer| Ghanshyam Sharma





117- केंद्र सरकार ने राजस्थान के किस जिले की ऑक्सीजन मित्र योजना को सराहते हुए इसे पूरे देश में लागू करने का सुझाव दिया है।


A- जयपुर
B- जोधपुर
C- बीकानेर
D- उदयपुर

केंद्र सरकार ने बीकानेर जिले की ऑक्सीजन मित्र योजना को सराहते हुए इसे पूरे देश में लागू करने का सुझाव दिया है।
बीकानेर में ऑक्सीजन की कमी को पूरा करने के लिए यह पहल शुरू की गई है।
यहां जिले के हर कोविड केयर सेंटर में ‘ऑक्सीजन मित्र’ बनाए गए हैं, ताकि ज्यादा से ज्यादा ऑक्सीजन की बर्बादी को रोका जा सके।
इस नए प्रयोग से जिले में हर रोज करीब 200 सिलेंडर की बचत हो रही है। इस बची ऑक्सीजन से दूसरे मरीजों की जान भी बच रही है।
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा हाल ही में बीकानेर कलेक्टर नमित मेहता की भी इस मॉडल की वजह से प्रशंसा की गई थी।

118- किस भारतीय वैज्ञानिक को अक्षय ऊर्जा स्रोत और ऊर्जा भंडारण में अनुसंधान के लिए अंतर्राष्ट्रीय एनी पुरस्कार 2020 प्राप्त हुआ है-

A- शेखर बसु
B- अनिल काकोदकर
C- सी.एन.आर. राव
D-रतन कुमार सिन्हा

भारत रत्न प्रोफेसर सी.एन.आर. राव को अक्षय ऊर्जा स्रोतों और ऊर्जा भंडारण में अनुसंधान के लिए अंतर्राष्ट्रीय एनी पुरस्कार 2020 प्राप्त हुआ है।
इस पुरस्कार को एनर्जी फ्रंटियर पुरस्कार भी कहा जाता है। इसे ऊर्जा अनुसंधान क्षेत्र में नोबेल पुरस्कार माना जाता है।
प्रोफेसर राव पूरी मानव जाति के लाभ के लिए ऊर्जा के एकमात्र स्रोत के रूप में हाइड्रोजन ऊर्जा पर काम कर रहे हैं।
हाइड्रोजन का भंडारण, हाइड्रोजन का फोटोकैमिकल और इलेक्ट्रोकेमिकल उत्पादन, हाइड्रोजन का सौर उत्पादन और गैर-धातु उत्प्रेरण प्रोफेसर राव के काम के मुख्य आकर्षण थे।
एनर्जी फ्रंटियर्स पुरस्कार धातु ऑक्साइड, कार्बन नैनोट्यूब, और अन्य सामग्रियों और द्वि-आयामी प्रणालियों पर उनके काम के लिए प्रदान किया गया है, जिसमें ग्रेफीन, बोरॉन-नाइट्रोजन-कार्बन हाइब्रिड सामग्री, और मोलिब्डेनम सल्फाइड (मोलिब्डेनाइट - एमओएस2) ऊर्जा अनुप्रयोगों और हरित हाइड्रोजन का उत्पादन शामिल हैं।
ये सभी वास्तव में, विभिन्न प्रक्रियाओं के माध्यम से प्राप्त की जा सकती हैं, जिसमें सौर या पवन ऊर्जा से उत्पादित बिजली द्वारा सक्रिय पानी, थर्मल पृथक्करण, और इलेक्ट्रोलिसिस के फोटोडिसोसिएशन शामिल हैं। प्रोफेसर राव ने तीनों क्षेत्रों में काम किया है और कुछ अत्यधिक नवीन सामग्री विकसित की है।

119- हाल ही में लाँच 'सर्विसेज ई-हेल्थ असिस्टेंस एंड टेली-कंसल्टेशन (सेहत) ओपीडी पोर्टल का सम्बंध किस क्षेत्र के लाभार्थियो से है -

A- सशस्त्र बल के लाभार्थी
B- आयुष्मान योजना के लाभार्थी
C- भारत के सभी नागरिक
D- केंद्र सरकार के कर्मचारी

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए 'सर्विसेज ई-हेल्थ असिस्टेंस एंड टेली-कंसल्टेशन (सेहत) ओपीडी पोर्टल लॉन्च किया।
यह पोर्टल सशस्‍त्र बलों को टेली मेडिसन सेवायें प्रदान करने में मदद करेगा।
इस ओपीडी के जरिए थलसेना, नौसेना और वायुसेना तथा पूर्व सैन्‍यकर्मी सशस्‍त्र बलों के विशेषज्ञ डॉक्‍टरों से फोन पर परामर्श ले सकेंगे।
इससे रक्षाकर्मियों के लगभग चार करोड परिवारजनों को लाभ होगा।
75 वर्ष और उससे अधिक आयु के व्यक्ति प्रतीक्षा किए बिना परामर्श कर सकते हैं।
“ई-संजीवनी प्लेटफॉर्म” नामक इसी तरह के पोर्टल ने हाल के महीनों में लगभग 5 लाख लोगों को सुविधा प्रदान की है।
ई-संजीवनी (eSanjeevani) टेलीमेडिसिन सेवा का पहला घटक है, जिसे आयुष्मान भारत (Ayushman Bharat) स्वास्थ्य पहल के तहत लागू किया गया है। यह आयुष्मान भारत के तहत स्थापित सभी 1.5 लाख स्वास्थ्य और कल्याण केंद्र को जोड़ता है। फिलहाल, यह सेवा वर्तमान में एंड्राइड यूजर्स तक ही सीमित है और इसे 23 राज्यों में लागू किया गया है।
ई-संजीवनी ओपीडी (eSanjeevani OPD)
यह टेली-परामर्श सेवा का दूसरा घटक है जो रोगी से चिकित्सक के बीच बातचीत को सक्षम बनाता है।

120- पीडियाट्रिक इन्फ्लैमेटरी मल्टी-सिस्टम सिंड्रोम (PIMS-TS) निम्नलिखित में से किस एक प्रकार की बीमारी है -

A- शरीर में खून की कमी
B- प्रतिरक्षा अति-प्रतिक्रिया
C- प्रतिरक्षा तंत्र का कमजोर होना
D- बौद्धिक स्तर में गिरावट

पीडियाट्रिक इन्फ्लैमेटरी मल्टी-सिस्टम सिंड्रोम (PIMS-TS)
को बच्चों में होने वाले ‘मल्टीसिस्टम इंफ्लेमेटरी सिंड्रोम’ (MIS-C) के नाम से भी जाना जाता है।
यह SARS-CoV-2 संक्रमण से जुड़ी एक दुर्लभ स्थिति है, और इसे पहली बार अप्रैल 2020 में परिभाषित किया गया था।
इस स्थिति को पैदा करने वाले कारकों के बारे में अभी जानकारी नहीं है, लेकिन इसे एक दुर्लभ ‘प्रतिरक्षा अति-प्रतिक्रिया’ (immune overreaction) माना जाता है।
यह स्थिति, हल्के अथवा लक्षणहीन SARS-CoV-2 संक्रमण होने के लगभग चार से छह सप्ताह बाद दिखाई देती है।
इस स्थिति के लक्षणों में बुखार, दाने निकलना, आंखों में संक्रमण और गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल लक्षण (जैसे दस्त, पेट दर्द, मतली) आदि शामिल हैं। कुछ दुर्लभ मामलों में, इस स्थिति से शरीर के कई अंग कार्य करने में विफल भी हो सकते है।

121- विजडन द्वारा इंग्लैंड को वनडे में उसके घर में मात देने के लिए चुनी गई रेस्ट ऑफ वर्ल्ड इलेवन का कप्तान किसे बनाया गया है -

A- जो रूट
B- विराट कोहली
C- ग्लेन मेक्सवेल
D- बाबर आजम

इंग्लैंड को क्रिकेट के किसी भी फॉर्मेट में उसके घर में जाकर हराना मौजूदा समय में बहुत मुश्किल है। वनडे इंटरनेशनल की बात करें तो इंग्लैंड में अपने घर में खेले पिछले 30 वनडे मैचों में से 21 में जीत हासिल की है।
इसीलिए प्रतिशत पत्रिका विजडन द्वारा इंग्लैंड को वनडे में उसके घर में मात देने के लिए रेस्ट ऑफ वर्ल्ड इलेवन चुनी गई है।
इस टीम में भारत के कप्तान विराट कोहली, ओपनर रोहित शर्मा, केएल राहुल, रवींद्र जडेजा और जसप्रीत बुमराह को भी जगह मिली है। विराट कोहली को इस रेस्ट ऑफ वर्ल्ड इलेवन का कप्तान भी चुना गया है।
रेस्ट ऑफ वर्ल्ड इलेवन- रोहित शर्मा, क्विंटन डिकॉक(विकेटकीपर), विराट कोहली(कप्तान) बाबर आजम, केएल राहुल, ग्लेन मैक्सवेल, रवींद्र जडेजा,मिशेल स्टार्क,शाहीन शाह अफरीदी,राशिद खान,जसप्रीत बुमराह।
विजडन ने इंग्लैंड को वनडे में उसके घर में मात देने के लिए रेस्ट ऑफ वर्ल्ड इलेवन चुनी है।

No comments:

Post a Comment

RAS Mains Paper 1

Pages