प्रशासन एवम प्रबंध भाग 9/ administration and management part 9/development Administration and administrative development - RAS Junction <meta content='ilazzfxt8goq8uc02gir0if1mr6nv6' name='facebook-domain-verification'/>

RAS Junction

We Believe in Excellence

Wednesday, December 12, 2018

प्रशासन एवम प्रबंध भाग 9/ administration and management part 9/development Administration and administrative development


प्रशासन एवम प्रबंध भाग 9/ administration and management part 9/development Administration and administrative development

विकास प्रशासन


समावयवयुक्त, आयोजित तथा कुशलतापूर्वक निर्धेशित कामकाज द्वारा परिवर्तन लाना ही विकास प्रशासन का सार है।
सरकार के बढ़ते हुए जनकल्याणकारी दायित्वों ने परम्परागत प्रशासनिक सिद्धांतो की परिसीमा पर प्रकाश डाला है।

विकास प्रशासन का अर्थ -
विकास प्रशासन की संकल्पना को भली भाँति समझने के लिए हमें पहले इसके अर्थ को जानने की आवश्यकता है।
विकास का प्रशासन विकासशील देशों में सरकार के कार्यों तथा उद्देश्यों के लिए काफ़ी महत्वपूर्ण है।
डेडनर द्वारा इसे परिभाषित करने का प्रथम प्रयास किया गया।
विकास प्रशासन देश की अर्थव्यवस्था का नियोजित रूप से रूपांतरण करने की दिशा में एक प्रयास है जिसमें केवल प्रशासन क्षेत्र ही सम्मिलित नहीं है अपितु कार्यनीति का निर्धारण तथा समूचा समाज इससे जुड़ा हुआ है।
सरल शब्दों में विकास प्रशासन को सरकारी प्रशासन का क्रियात्मक भाग कहा जा सकता है।
यह कार्य अभिमुखी होता है तथा विकास के उद्देश्यों की प्राप्ति के लिए प्रशासन को केंद्र में रखता है।

विभिन्न परिभाषाए -

हैरी जे फ़्रेडमेन - ऐसी कार्ययोजनाओ का परिपालन जिनका अभिप्राय आधुनिकता लाना है।

गांट के अनुसार - विकास प्रशासन लोक प्रशासन का वह पहलू है जिसमें ध्यान इस बात पर केंद्रित होता है कि लोक संस्थानो की व्यवस्था एवं प्रशासन इस प्रकार किया जाए जिससे सामाजिक एवं आर्थिक प्रगति के लिए बनाई जाने वाली योजनाओं को बल मिले 

प्रशासन का विकास अथवा प्रशासनिक विकास -

विकास प्रशासन का कुशल एवं प्रभावी होना अत्यंत आवश्यक है। इस उद्देश्य की पूर्ति के लिए विकास प्रशासन को अपनी प्रशासनिक योग्यताओ तथा संरचना में परिवर्तन लाते हुए इसे और अधिक विस्तृत करने की ज़रूरत होती है। प्रशासन के इसी पहलू को प्रशासनिक विकास के नाम से जाना जाता है।
प्रशासन में यह विस्तार सामाजिक उद्देश्यों के अनुकूल होना चाहिए।

प्रशासनिक विकास से तात्पर्य - प्रशासनिक व्यवस्था का विकास करना अर्थात प्रशासन द्वारा नए लक्ष्यों की प्राप्ति हेतु इसे समर्थ एवं दक्ष बनाना है।
एफ़॰ डबल्यू॰ रिंग्स के अनुसार - प्रशासनिक विकास निर्दिष्ट लक्ष्यों की प्राप्ति है। यह उपलब्ध साधनो के उपयोग की बढ़ती हुई प्रभावशीलता का परिणाम है।

प्रशासनिक विकास का मुख्य लक्ष्य कार्य व्यवस्थापन पर ध्यान रखते हुए प्रशासन का गुणात्मक एवं परिमाणात्मक रूपांतरण करना है।

प्रशासनिक विकास निम्नलिखित विषयों से सम्बंधित है -

विभिन्न उद्देश्यों की प्राप्ति तथा पर्यावरण की बढ़ती आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए निर्णय लेने की क्षमता।
प्रशासनिक सामर्थ्य योग्यता एवं क्षमता में बढ़ोत्तरी।
प्रशासन का पुन नियोजन एवं युक्तिकरण 
नौकरशाही की गतिहीनता एवं भ्रष्टाचार की समाप्ति 
आधुनिकीकरण को संस्कृति सम्बद्ध बनाना।
उपलब्ध साधनो का समुचित उपयोग तथा आवश्यकता पर उनका विस्तार।

प्रशासनिक विकास तथा विकास प्रशासन में सम्बंध-

ये दोनो संकल्पनाए एक दूसरे से सम्बंधित तथा निर्भर है।
विकास का प्रशासन उतना ही महत्वपूर्ण है जितना की प्रशासनिक विकास।
रिंग्स के अनुसार इन दोनो में वही रिश्ता है जो कि मुरग़ी तथा अंडे का है। अर्थात यह नहीं बताया जा सकता की दोनो में से कौन वरिष्ठ है।
प्रशासन में कोई भी परिवर्तन लाने के लिए विकास आवश्यक है तथा विकास के लक्ष्य की प्राप्ति के लिए प्रशासन का सुदृढ़ होना आवश्यक है।
वैसे प्रशासनिक विकास को विकास प्रशासन का ही एक अंग माना जाता है।

प्रशासनिक विकास के साधन -
प्रशासनिक सुधार 
नवाचार
पर्यावरण 

परम्परागत तथा विकास प्रशासन में अंतर -

अधिकतर विद्वानो के अनुसार विकास प्रशासन की संकल्पना परम्परागत प्रशासन से भिन्न है।
इन दोनो संकल्पनाओ के बीच प्रमुख अंतरो को निम्न प्रकार से समझा जा सकता है -
P एक व्यवस्थापकीय प्रशासन है जबकि V में अप्रत्यक्षित कार्य व समस्याएँ होती है।
P व्यक्तिगत कौशल पर बल देता है जबकि V लक्ष्यों की प्राप्ति की लिए सामूहिक कौशल तथा सहयोग पर बल देता है।
P पदानुक्रमिक एवं कठोर है जबकि V गतिशील एवं लचीला है।
P नियमानुसार चलता है जबकि V रचनात्मक एवं आविष्कारक होता है।
P केंद्रिकृत होता है जबकि V विकेंद्रीकरण में विश्वास रखता है।
P का कार्यक्षेत्र सीमित होता है जबकि V का कार्यक्षेत्र व्यापक होता है।

विकास प्रशासन कि विशेषतायें -

परिवर्तन अभिमुखीकरण 
लक्ष्य अभिमुख़िकरण 
सुधार सम्बंधी प्रशासन 
सहभागिता अभिमुखी प्रशासन 
प्रभावी समन्वय 

No comments:

Post a Comment

RAS Mains Paper 1

Pages