द्रव्य की अवस्थाएं भाग दो/States of matter part 2/Ras mains paper 2 - RAS Junction <meta content='ilazzfxt8goq8uc02gir0if1mr6nv6' name='facebook-domain-verification'/>

RAS Junction

We Believe in Excellence

Friday, August 17, 2018

द्रव्य की अवस्थाएं भाग दो/States of matter part 2/Ras mains paper 2

वीडियो के भाग-1 में हमने पदार्थ की भौतिक अवस्थाओं के बारे में अध्ययन किया था। इस भाग में हम रासायनिक संगठन के आधार पर पदार्थों के विभाजन का अध्ययन करेंगे

रासायनिक संगठन के आधार पर पदार्थों को तीन श्रेणियों में विभाजित किया जा सकता है-

तत्व, यौगिक तथा मिश्रण।

तत्व(element)

वह पदार्थ जो एक ही प्रकार के परमाणुओं से मिलकर बना होता है, तत्व कहलाता है।

यदि इलेक्ट्रॉनिक संरचना के संदर्भ में बात करें तो तत्व के प्रत्येक परमाणु का नाभिकीय आवेश समान होता है।

तत्वों को धातु तथा अधातु दो वर्गों में विभक्त किया जा सकता है।

धातु तत्व विद्युत तथा ऊष्मा के प्रति चालकता प्रदर्शित करते हैं तथा ठोस अवस्था में आघातवर्धनीय और तन्य होते हैं। 

लोहा, चांदी, सोना, तांबा आदि धातु तत्व के उदाहरण है।
धातु तत्व के विपरीत अधातु तत्व उष्मा तथा विद्युतीय कुचालक होते हैं। फास्फोरस, गंधक, ब्रोमीन तथा ऑक्सीजन आदि अधातु तत्व के अंतर्गत आते हैं।

भूपटल पर सर्वाधिक मात्रा में पाए जाने वाले तत्वों में ऑक्सीजन(49.9%) सिलिकॉन(26%) एल्युमीनियम(7.3%) लोहा(4.1%) तथा कैल्शियम(3.2%) प्रमुख है।

मानव शरीर में पाए जाने वाले तत्व में ऑक्सीजन(65%), कार्बन (18%),हाइड्रोजन (10%), नाइट्रोजन (3%), केल्सियम (2%), तथा फास्फोरस (1%)  प्रमुख है।

यौगिक( compound)-

वह शुद्ध पदार्थ जो दो या दो से अधिक तत्वों के निश्चित अनुपात में रासायनिक संयोग से मिलकर बना होता है तथा जिसे विभिन्न रासायनिक विधियों द्वारा सर्वथा भिन्न गुणों वाले अवयव तत्वों में विभाजित किया जा सकता है उन्हें यौगिक कहा जाता है।

यौगिक के रासायनिक गुण उसका निर्माण करने वाले तत्वों से सर्वथा भिन्न होते हैं।
उदाहरण- जल, कार्बन डाइऑक्साइड आदि।

मिश्रण (mixture)-

वे सभी पदार्थ जो दो या दो से अधिक शुद्ध पदार्थों (तत्व या यौगिक) को किसी भी अनुपात में बिना किसी रासायनिक संयोग के मिलाने से बनते है, मिश्रण कहलाते हैं।

मिश्रण में उपस्थित तत्व अथवा योगी को को साधारण यांत्रिक अथवा भौतिक विधियों से अलग किया जा सकता है।
वायु तथा समुद्री जल मिश्रण के उदाहरण हैं।

मिश्रण को पुनः इसके संगठन के आधार पर 2 भागों में विभाजित किया जा सकता है-

समांग मिश्रण-

ऐसा मिश्रण जिसके प्रत्येक भाग में उसके अवयवी पदार्थों का गुण एवं संगठन समान होता है समांग मिश्रण कहलाता है।
उदाहरण जल में नमक का विलयन, गंधक का कार्बन डाई सल्फाइड में विलयन।

असमांग मिश्रण

ऐसे मिश्रण जिसमें उसके अवयवी पदार्थों के गुण तथा संगठन एक समान न होकर विभिन्न भागों में अलग-अलग होता है, असमांग मिश्रण कहलाते हैं।
धूल कणों का हवा में मिश्रण, लोहे एवं गंधक का मिश्रण इसी प्रकार के उदाहरण है।


1 comment:

RAS Mains Paper 1

Pages