हाइड्रोकार्बन्स तथा उनका वर्गीकरण/ Hydrocarbons and its classification/RAS mains paper 2 - RAS Junction <meta content='ilazzfxt8goq8uc02gir0if1mr6nv6' name='facebook-domain-verification'/>

RAS Junction

We Believe in Excellence

Monday, August 13, 2018

हाइड्रोकार्बन्स तथा उनका वर्गीकरण/ Hydrocarbons and its classification/RAS mains paper 2

हाइड्रोकार्बन्स तथा उनका वर्गीकरण/ Hydrocarbons and its classification/RAS mains paper 2

हाइड्रोकार्बन्स को मुख्यत तो श्रेणियों में बांटा जा सकता है-

विवृत श्रृंखला युक्त अचक्रीय हाइड्रोकार्बन (एलिफटिक योगिक )
संवृत श्रृंखला युक्त चक्रीय हाइड्रोकार्बन

अचक्रीय हाइड्रोकार्बन को पुन तीन श्रेणियों में विभक्त कर सकते है।

1 एल्केन (एकल बंध युक्त संतृप्त)  2 एल्कीन (द्विबंध युक्त असंतृप्त) 3. एल्काइन ( त्रिबंध युक्त असंतृप्त)

हाइड्रोकार्बन के नामकरण की पद्धति-

1. रुढ़ पद्धति ( Trival system )
इस पद्धति  में कार्बनिक यौगिकों का नामकरण उनकी प्राप्ति के प्राकृतिक स्त्रोत तथा गुणों के आधार पर किया जाता है। उदाहरण-




2. व्युत्पन्न पद्धति - इस पद्धति  में कार्बनिक योगिको का नामकरण उनके सरल यौगिकों का व्युत्पन्न मानकर किया जाता है।



3. IUPAC पद्धति -
यह एक सर्वत्र मान्य पद्धति है।
कार्बन परमाणुओं की संख्या के आधार पर पूर्वलग्न तथा योगिक में उपस्थित कार्बनिक बंध के आधार पर अनुलग्नक लिखा जाता है।





No comments:

Post a Comment

RAS Mains Paper 1

Pages