सुजस अक्टूबर 2017/sujas October 2017 - RAS Junction <meta content='ilazzfxt8goq8uc02gir0if1mr6nv6' name='facebook-domain-verification'/>

RAS Junction

We Believe in Excellence

Monday, December 11, 2017

सुजस अक्टूबर 2017/sujas October 2017

सुजस अक्टूबर 2017/sujas October 2017

पं० दीनदयाल उपाध्याय विशेष योग्यजन अभियान के तहत प्रदेश के 15 लाख दिव्यांगों को सक्षम बनाने हेतु राजस्थान सरकार द्वारा विशेष प्रयास किए जा रहे है। इस हेतु राज्य सरकार एक विशेष अन्तर्राष्ट्रीय युनिवर्सिटी बनाने जा रही है।

राजस्थान में सामाजिक सुरक्षा योजनाएँ- एक नजर
 
योजना का नाम
पात्र लाभार्थी
देय लाभ

मुख्यमंत्री वृद्घजन सम्मान पेंशन योजना

राजस्थान का नागरिक जिसकी-
समस्त स्त्रोतों से आय 48 हजार रूपये से कम हो।
प्रार्थी पत्नी अथवा पुत्र सरकारी सेवा में कार्यरत नही हो।
75 वर्ष से अधिक- 750 रुपये प्रति माह
75 वर्ष से कम- 500 रुपये प्रति माह

वीडियो ट्यूटोरियल 


 

मुख्यमंत्री एकल नारी सम्मान पेंशन योजना
 
राजस्थान की निवासी 18 वर्ष से अधिक विधवा/परित्यक्ता/लताकशुदा महिला।
समस्त स्त्रोतों से आय 48 हजार रूपये से कम हो।
पुत्र सरकारी सेवा में कार्यरत नहीं हो।
75 वर्ष से अधिक- 1500 रूपये प्रति माह
60 से 75 वर्ष- 1000 रुपये प्रति माह
18 से 60 वर्ष- 500 रुपये प्रति माह

मुख्यमंत्री विशेष योग्यजन सम्मान पेंशन योजना
राजस्थान का नागरिक जिसकी-
समस्त स्त्रोतों से आय 60 हजार रूपये से कम हो।
750 रूपये प्रति माह

सहयोग एवं उपहार योजना
सभी वर्गो के बी पी एल अन्तयोदय एवं आस्था कार्डधारी परिवार की आर्थिक दृष्टि से कमजोर विधवा महिलाओं की पुत्रियों के विवाह हेतु।
पुत्रियों के विवाह हेतु आर्थिक सहायता उपलब्ध कराई जाती है।

अनुप्रति योजना
राज्य के अनुसूचित जाति, जनजाति, विशेष पिछ्ड़ा वर्ग व ओबीसी व सामान्य वर्ग के बीपीएल के प्रतिभावान छात्र
RAS, IAS, IIT, तथा IIM जैसी परीक्षाओं में चयन के उपरान्त प्रोत्साहन राशि दी जाती है।

पालनहार योजना
राज्य के शून्य से 18 वर्ष के विशेष देखभाल व सरंक्षण वाले बच्चे
0-6 वर्ष - 500 रुपये प्रति माह।
6-18 वर्ष- 1000 रूपये प्रति माह

नई रोशनी
अल्पसंख्यक महिलाओं में नेतृत्व विकास के लिए अल्पसंख्यक कार्य मंत्रालय भारत सरकार द्वारा चयनित स्वैच्छिक संस्थाओं के माध्यम से शत प्रतिशत वित्त पोषित योजना है।

साइबर ग्राम योजना
अल्पसंख्यक बहुल क्षेत्रों में कक्षा 6 से 10 तक के अल्पसंख्यक विद्यार्थियों को दो चरणों में डिजिटल साक्षरता का प्रशिक्षण दिया जा रहा है।

4 अक्टूबर को राजस्थान के पर्यटन टैग लाइन " जाने क्या दिख जाए" की लोकप्रियता के स्वरूप राजस्थान को पर्यटन का राष्ट्रीय पुरस्कार प्रदान किया गया।

वर्तमान में राजस्थान में कुल 7 शहरों जयपुर, जोधपुर, उदयपुर, कोटा, बीकानेर, जैसलमेर तथा किशनगढ(अजमेर) हवाई सेवा उपलब्ध हो चुकी है।

रीको तथा फिक्की के संयुक्त तत्वाधान में जयपुर में 'वस्त्र-2017' का आयोजन किया गया।

बीकानेर का करणी माता मन्दिर नवरात्रों के समय आस्था का विशेष केन्द्र बन जाता है। मंदिर का मुख्य द्वार संगमरमर पर विशेष बेलबूटों से अलंकृत है। यहाँ पाये जाने वाले सफेद चूहे जिन्हें काबा कहते है, वे कभी मान्दिर से बाहर नही जाते तथा इनसे कोई संक्रमण भी नही होता है। करणी माता चारणों की कुल देवी है।

No comments:

Post a Comment

RAS Mains Paper 1

Pages