राजस्थान : लिगांनुपात की स्थिति (RAS MAINS PAPER 2) - RAS Junction <meta content='ilazzfxt8goq8uc02gir0if1mr6nv6' name='facebook-domain-verification'/>

RAS Junction

We Believe in Excellence

Tuesday, October 31, 2017

राजस्थान : लिगांनुपात की स्थिति (RAS MAINS PAPER 2)

भारत की सातवीं जनगणना 2011 के अनुसार भारत व राजस्थान का लिंगानुपात क्रमशः 943 व 928 है।

राजस्थान में लिगांनुपात की विशेषताएँ -

  • राजस्थान के लिंगानुपात में 2001 की तुलना में 7 अंको की वृद्धि हुई है। 
  • सर्वाधिक लिगांनुपात वाला जिला पाली (1003) व न्यूनतम लिगांनुपात वाला जिला धौलपुर (841) है।
  • सर्वाधिक शहरी लिगांनुपात वाला जिला टोंक (985) व न्यूनतम लिगांनुपात वाला जिला जैसलमेर (807) है।     
  • सर्वाधिक ग्रामीण लिगांनुपात वाला जिला पाली (1003) व न्यूनतम ग्रामीण लिगांनुपात वाला जिला धौलपुर (841) है।     
  • लिगांनुपात में सर्वाधिक वृद्धि  जैसलमेर (+31) व सर्वाधिक कमी डूंगरपुर (-28) की रही है। 
  • राजस्थान में शिशु लिगांनुपात( 0 से 6 वर्ष) मे 2001(909) की तुलना में 2011(888) में  21 अंको की कमी आई है।
  • राजस्थान में  शिशु लिगांनुपात सर्वधिक प्रतापगढ (933) तथा न्यूनतम झुंझनु (837) का है।
  • शिशु लिगांनुपात में सर्वाधिक गिरावट दौसा (41) में दर्ज की गई है।
  • हनुमानगढ़(+6) जैसलमेर (+5) व गंगानगर (+4) को छोड कर शेष सभी जिलों में शिशु लिगांनुपात में गिरावट हुई है।
 
कुछ महत्वपूर्ण तथ्य -
 
  • सर्वाधिक ग्रामीण लिगांनुपात वाले जिले - पाली > राजसमंद > डूंगरपुर।  
  • न्यूनतम ग्रामीण लिगांनुपात वाले जिले -  धौलपुर < करौली < जैसलमेर। 
  • सर्वाधिक शहरी लिगांनुपात वाले जिले- टोंक > प्रतापगढ़ > बांसवाड़ा।
  • न्यूनतम  शहरी लिगांनुपात वाले जिले-  जैसलमेर < धौलपुर< अलवर। 

No comments:

Post a Comment

RAS Mains Paper 1

Pages