ब्रिक्स : एक परिचय (RAS MAINS PAPER 3) - RAS Junction <meta content='ilazzfxt8goq8uc02gir0if1mr6nv6' name='facebook-domain-verification'/>

RAS Junction

We Believe in Excellence

Thursday, October 26, 2017

ब्रिक्स : एक परिचय (RAS MAINS PAPER 3)

ब्रिक्स का विचार गोल्डमैन सैक कम्पनी के अर्थशास्त्री जिम ओ नील ने 2003 मे अपनी पुस्तक 'ड्रिमिंग विद ब्रिक्स : द पाथ टू 2050' में दिया था।

 

सदस्य-

ब्राजील, रूस, भारत, चीन ने मिलकर 2009 में स्थापना की। 2010 में साउथ अफ्रीका पाँचवा सदस्य बना।

  • ब्रिक्स के पॉच देशों में 3.6 बिलियन जनसंख्या निवास करती है जो विश्व का 40 % है।
  • इनका सकल घरेलु उत्पाद  16.6 ट्रिलियन डालर है जो विश्व का 22 % है।
  • 2009 से 2017 तक ब्रिक्स के नौं वार्षिक सम्मेलन हुए है जो क्रमशः युकतारेनबर्ग( रूस), ब्रासीलिया (ब्राजील), सान्या(चीन ), नई दिल्ली(भारत ), डरबन(दक्षिण अफ्रीका),फोर्टालेजा (ब्राजील), उफा(रुस), गोवा(भारत), जियामन (चीन) में सम्पन्न हुए है। दसवाँ शिखर सम्मेलन दक्षिण अफ्रीका में प्रस्तावित है।

ब्रिक्स के उदेश्य-

  • एक न्यायपूर्ण तथा समतापूर्ण विश्व व्यवस्था का निर्माण।
  • अन्तर्राष्ट्रीय संस्थाओ में सुधार करना।
  • जलवायु परिवर्तन, आतंकवाद, विश्व व्यापार जैसे मुदों का न्यायोचित समाधान।
  • सदस्य देशों के विकास हेतु पारिस्परिक सहयोग को बढ़ाना।
ब्रिक्स देशों ने एक डवलपमेंट बैंक की भी स्थापना की है जो सदस्य देशों में विकास परियोजनाओं में मदद कर रहा है। ब्रिक्स के देशों ने आर्थिक, तकनीकी व विकास के क्षेत्र में आपसी सहयोग को गत एक दशक में मजबूत किया है।

1 comment:

RAS Mains Paper 1

Pages